President Desk

छत्तीसगढ़ की समृद्धशाली धरा पर प.पू. गुरू भगवन्तों द्वारा परिकल्पित विचक्षण के अध्यक्ष पद से अपने उद्गार प्रकट करते हुए मैं अपार हर्ष का अनुभव कर रहा हूँ। जीवन की आपाधापी एवं आधुनिकता की चकाचौंध ने सहज मिलने वाले संस्कारों को बच्चों से छीन लिया है। इन्हीं संस्कारों को पुनर्स्थापित करने के उद्देश्य से विचक्षण जैन विद्यापीठ द्वारा एक English Medium Co-Education Day Boarding Cum Residential School की स्थापना न केवल छत्तीसगढ़ वासियों अपितु सम्पूर्ण राष्ट्र के लिये एक मील का पत्थर साबित होगी।वर्तमान शिक्षा बच्चों को बहुमुखी ज्ञान एवं तकनीकी विकास की ओर तो अग्रसर कर रही है किन्तु जीवन के आनंद से उन्हें वंचित रख रही है।
विद्यापीठ में कैवल्यधाम का सामिप्य, गुरू भगवन्तों की सतत निश्रा एवं आधुनिक संसाधनों से युक्त स्कूल परिसर बच्चों के समग्र विकास में सहायक होगी। आइये हम और आप इस अद्भुत पहल के सहभागी बने और अपने समाज को शिक्षा एवं संस्कार युक्त बनायें।